Home जैमिन शुक्ल कश्मीर घाटी भारत सरकार कि विफलता का प्रतिक

कश्मीर घाटी भारत सरकार कि विफलता का प्रतिक

18
0
SHARE
कश्मीर घाटी 1990 के साल से एक उबलता हुआ कुआ बन गई है। आज वहां के कट्टरपंथी अपनी चरम सीमा पर है। क्यां कश्मीर के हालात काबु में किये जा सकते है? हमें कश्मीर के काबु करने के लिए बहुत पहले ही कदम उठा लेने चाहिए थे। कश्मीर में अलगाववादी नेता वहां कि जमुरीयत को भड़काने का काम करते है। वहा पर मस्जिद में या खुले में भड़काउ और भारत